बीएड की पूरी जानकारी : बी एड से क्या होता है; कैसे करे; योग्यता; फीस; सब्जेक्ट्स लिस्ट आदि

ज़िन्दगी में हर इंसान आत्मनिर्भर होना चाहता है । हर इंसान अपनी शिक्षा भली -भाँती पूरा करना चाहता है ताकि वह इंजीनियर , डॉक्टर या शिक्षक बन सके । शिक्षक की उपाधि सम्मानीय होती है ।

शिक्षक का प्रमुख दायित्व है कि वह छात्रगणो को अच्छी शिक्षा प्रदान करें ।शिक्षक की समाज के प्रति अहम भूमिका होती है
।शिक्षक समाज को शिक्षित होने का आईना दिखाते है । शिक्षक का सम्मान लोग आजीवन करते है
और छात्र उन्हें जीवन भर याद करते है । अगर आप शिक्षक बनना चाहते है तो उसके लिए B ed करने की आवश्यकता है । शिक्षक का पद ज़िम्मेदारियों से भरा हुआ होता है ।

उनपर यह उत्तरदियत्व होता है कि वह आने वाले बच्चो को एक उज्जवल भविष्य प्रदान करे । इसके लिए बीएड की परीक्षा उतीर्ण करना आवश्यक है ।आपको इस लेख के माध्यम से सारी B.ed information in hindi में मिल जायेगी ।
B ed का full form है- Bachelor of education मतलब बैचलर ऑफ़ एजुकेशन

B.ed course kya hai aur aur kaise karein

अगर किसी भी व्यक्ति को Government school में पढ़ाना हो या Private school में B.ed की degree का होना अनिवार्य है ।B.ed की degree प्राप्त करने के लिए आपको ग्रेजुएट होना पड़ेगा ।
आप साइंस , कॉमर्स या आर्ट्स किसी भी विषय में अपने रूचि को ध्यान में रखते हुए ग्रेजुएशन की
पढ़ाई पूरी कर सकते है ।बीएड करने के लिए आपको योग्यता स्वरुप B.sc ya B.com या B.A पास
करने की आवश्यकता है ।बीएड कोर्स में दाखिला पाने के लिए ग्रेजुएशन और उसमे न्यूनतम 50
प्रतिशत का होना ज़रूरी है । बीएड की पढ़ाई के लिए व्यक्ति की उम्र 21 से 28 साल के बीच होना
ज़रूरी है ।

बी एड की अवधि (duration) और iski fees kitni hai

आपको बीएड कॉलेज में प्रवेश पाने हेतु एडमिशन टेस्ट देना पड़ता है । उसके बाद अगर आपके मार्क्स अच्छे हुए
तो आपको सरकारी B.ed कॉलेज में एडमिशन मिल सकता है । सरकारी कॉलेज में बीएड की पढ़ाई पूरी करने के
लिए ज़्यादा फीस नहीं लगता है । बीएड की फीस रेगुलर और प्राइवेट कॉलेजों में २५,००० से ८०,००० तक
निर्धारित की गयी है ।

अगर आप distance या correspondence से कोर्स करना चाहते है तो आपकी फीस कम हो सकती है ।बीएड की अवधि दो वर्ष निर्धारित की गयी है ।कुछ कॉलेजों और विश्वविद्यालय में बीएड
कोर्स की अवधि एक वर्ष and कुछ विश्वविद्यालय में बीएड कोर्स की अवधि एक वर्ष की निर्धारित की गयी है ।

बीएड करना क्यों है आवश्यक

सरकारी स्कूल में अध्यापक बनने के लिए बीएड की डिग्री होना अनिवार्य है । इसके बैगर आपको शिक्षक की नौकरी नहीं मिल सकती है ।पहले यह सिर्फ सरकारी स्कूल में मान्य था लेकिन अभी 2019 में सरकार ने एलान किया है कि निजी स्कूलों में पढ़ाने के लिए भी बीएड करना अति आवश्यक है ।

अगर आप सही में बेहतर और अव्वल दर्जे के शिक्षक बनना चाहते है तो आपको बीएड की डिग्री प्राप्त करनी होगी । यह कोर्स आपको टीचिंग संबंधित बेहतर स्किल्स सिखाएगी और शिक्षक के रूप में आप अपने आपको निखार पाएंगे ।

बीएड कॉलेज में प्रवेश लेने से पूर्व कुछ चीज़ों की जानकारी जरूर हासिल कर लें जैसे कि वह संसथान या कॉलेज का NCTE यानी नेशनल कौंसिल
ऑफ़ टीचर एजुकेशन की मान्यता है या नहीं ।

अगर उस कॉलेज में नेशनल कौंसिल ऑफ़ टीचर एजुकेशन की मान्यता हासिल नहीं की है तो वहां आप बीएड की पढ़ाई बिलकुल न करें । इससे आपका धन और समय बेकार जाएगा । जिस कॉलेज में NCTE मान्यता नहीं है उसकी शिक्षा या डिग्री की कोई value नहीं होगी ।

2020 mein Bed kitne saal ka hoga -2020 में बीएड 2 साल का ही रहेगा और इसके लिए 4 सेमेस्टरों में B.ed की परीक्षा ली जाएगी

B.ed karne ke liye top 5 college ke naam

बीएड करने के लिए आपको भारत के टॉप 5 कॉलेजों के बारे में अवश्य जानना चाहिए जिससे आप बीएड की शिक्षा अच्छे कॉलेजों से उत्तीर्ण कर सके ।
लेडी श्री राम कॉलेज फॉर वीमेन
कस्तूरी राम कॉलेज फॉर हायर एजुकेशन
दिल्ली यूनिवर्सिटी
अल -अमिन कॉलेज ऑफ़ एजुकेशन
विजया टीचर्स कॉलेज


B.ed mein kon kon se विषय :- 1 st year and 2nd year में होते है

  1. Education ,culture and Human values
    2 .Education, evaluation and Assessment
    3 .Psychological foundation of Education
  2. Child guidance and counselling
  3. Philosophy and sociology of Education
  4. Holistic education

Methdology courses
Paedagogy of science
Paedagogy of maths
Paedagogy of english
Paedagogy of hindi


Some practical courses जैसे workshop based activities, assignments, reading and
refecting of texts भी सम्मिलित होते है ।कभी एक एडिशनल पेपर भी हो सकता है जैसे मेन्टल
mesurement और Basic statistics.

B.ed entrance exam ki taiyaari kaise karein

बीएड की डिग्री प्राप्त करने के लिए प्रवेश परीक्षा पास करना अनिवार्य है । इसके लिए व्यक्ति को स्नातक के कोर्स में 50 प्रतिशत अंक लाना ज़रूरी है ।

सभी शिक्षा संस्थानों में एडमिशन टेस्ट अनिवार्य कर दिया गया है । छात्रों को जनरल स्टडीज ,थीमेटिक पेपर और टीचर एप्टीटुड की
परीक्षा पास करनी होगी । इसके बाद इंटरव्यू में कुछ सवाल -जवाब होंगे । इन सभी एंट्रेंस राउंड्स को clear करने के पश्चात आप बीएड की पढ़ाई के लिए प्रवेश पा सकते है ।

B.ed course ke baad kya karein aur naukri kaise milegi

संबंधित जानकारियां
बीएड करने के पश्चात अगर आपको बहुत अच्छे अंक मिलते है तो आपको नौकरी मिलने के मौके
बुलंद हो जायेंगे । बीएड के पश्चात आपको प्राइमरी स्कूल ,सेकेंडरी स्कूल ,कॉलेज और विश्वविद्यालय
में आसानी से नौकरी मिल जायेगी ।

अगर आप सीबीएसई बोर्ड मान्यता प्राप्त केंद्रीय विद्यालय की परीक्षा उत्तीर्ण करते है तो आपका सुनहरा भविष्य बनने में देर नहीं लगेगी । आप प्राइमरी टीचर (PRT ), TGT और पोस्ट ग्रेजुएट टीचर के रूप में कार्यरत हो सकते है

बीएड की डिग्री प्राप्त करने के पश्चात institutes और navoday विद्यालय में नौकरी के अर्जी दे
सकते है । पहले पहले आपको 10,000 से 15,000 के बीच मासिक वेतन मिलेगा । उसके पश्चात
जैसे जैसे आपका प्रदर्शन बेहतर होगा आपको प्रमोशन के साथ वेतन और अच्छा मिलेगा ।
इसके साथ ही आप बीएड or B.ed ke course details मिलने के पश्चात इन कार्य क्षेत्रों पर इन
पदों पर काम कर सकते है । वह पद है:

  1. Education consultant
  2. academic counsellor
  3. content writer
  4. online or private tutor
  5. vice principal

वेतन (B.ed course karne ke bad salary)

बीएड की डिग्री प्राप्त करनें के बाद आपका आरंभिक वेतन टीजीटी अध्यापकों के रूप में  2.5 लाख से 3.5 लाख रुपए तथा पीजीटी अध्यापकों के रूप में आपको 4 लाख से 5 रुपए वार्षिक वेतनमान प्राप्त होगा ।

आपको बीएड सम्बंधित जानकारियां प्राप्त हो गयी है और आप शिक्षक बनने की अच्छी
तैयारी कर पाएंगे।

आशा करता हूँ। कि B.ed course के बारे यह जानकारी उपयोगी साबित होगी। ऐसी ही महत्वपूर्ण जानकारी के लिए thehulchal के साथ फेसबुक के माध्यम से जुड़े। click here to join- facebook.com/thehulchal

दोस्तों के साथ भी शेयर करे (क्योंकि ज्ञान को जितना प्रसारित करे उतना ही बढ़ता है )

धन्यवाद 🙂

इसे भी पढ़े

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *