प्रथम खाड़ी युद्ध

प्रथम खाड़ी युद्ध (ऑपरेशन डेज़र्ट स्टॉर्म ) कब और क्यों हुआ (first gulf war )-इराक़ी वॉर

प्रथम खाड़ी युद्ध (first gulf war)- परिचय

अमेरिका के एकाधिकार अर्थात एक ध्रूवीए विश्व की शुरुवात को प्रथम खाड़ी युद्ध  को माना जाता है । जब अमेरिका ने अपनी सैनिक शक्ति के बल पर कुवैत को इराक़ से स्वतन्त्र करवाया था।प्रथम खाड़ी युद्ध की शुरुवात अगस्त 1990 में हुई।

प्रथम खाड़ी युद्ध की मुख्य वज़ह (reason of first gulf war)

इराक़ ने अपने छोटे से पड़ोसी देश पर कब्ज़ा कर लिया था। तब इराक़ का राट्रपति सद्दाम हुसैन था। अमेरिका ने इराक़ को समझाने -बुझाने की राजनयिक कोशिशे  जब नाकाम रही तो UNO  ने कुवैत को मुक्त करने के लिए बल प्रयोग की अनुमति दे दी। शीतयुद्घ के दौरान ज्यादातर मामलो में चुप्पी साध लेने वाले UNO के लिहाज से यह एक नाटकीय फैसला था। फिर अमेरिका ने कुवैत को स्वतन्त्र में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। विश्व के 34 देशो की लगभग 660000 की फौज ने इराक़ पर मिलकर हमला किया।

इस अभियान में अमेरिका की  75 % सैनिक  थे और अमेरिका ही इस युद्ध को निर्देशित और नियंत्रित कर रहा था।इराक़ ने यह  यह कहा की यह  100 जंग की एक जंग साबित होगी।

प्रथम खाड़ी युद्ध में अमेरिका का दखल (intervention of america in first gulf war)

इस युद्ध को अमेरिका ने TV पर लाइव दिखाया था इसलिए इसे विडिओ गेम वॉर के  नाम  से भी  जाता  है।और यह  कहा जाता है की अमेरिका ने इस युद्ध में उच्च तकनिकी का इस्तेमाल किया गया था। इसी लिए इस  युद्ध को कंप्यूटर युद्ध (COMPUTER WAR ) के नाम से जाना जाता है।

Read Also:- 41 Life Changing Motivational Quotes for Students |Burning Desire,Success

प्रथम कड़ी युद्ध का परिणाम (Reasult of first gulf war)

इतनी बड़ी फौज के आगे अमेरिका जयादा दिन तक टिक नहीं पाया और उसे कुवैत से पीछे  पड़ा।इस युद्ध ने अमेरिका की सैनिक ताकत को बहुत बड़ा दिया और विश्व एक ध्रुविए व्यवस्था की ओर चलने लगा। 

Read Also:- शीत युद्ध का दौर एवं उसके द्वारा पड़ने वाले प्रभाव की व्याख्या ?

कमेंट द्वारा अपनी राय अवस्य बताएं ऐसे ही महत्वपूर्ण जानकारी के लिए the hulchal पर बने रहे

दोस्तों के साथ भी शेयर करे

धन्यवाद 🙂

ऑपरेशन इनफाइनाइट रीच क्या है। अमेरिका का अलकायदा पर हमला

क्यूबा मिसाइल संकट क्या है इससे परमाणु युद्ध कि संभावना कैसे टली।

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *